हरियाणा प्रदेश महिला कांग्रेस की प्रवक्ता रंजीता मेहता ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पूछा है कि उन्होंने मंत्रियों से रिपोर्ट कार्ड लिये बिना ही पत्रकारों के सवालों का जबाव कैसे दे दिया

चंडीगढ़:

हरियाणा प्रदेश महिला कांग्रेस की प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं प्रवक्ता रंजीता मेहता ने हरियाणा दौरे पर आए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पूछा है कि उन्होंने मंत्रियों से रिपोर्ट कार्ड लिये बिना ही पत्रकारों के सवालों का जबाव कैसे दे दिया।जनता के सवाल तो प्रेस ने ही पूछने थे, ऐसे में उन्होंने बिना रिपोर्ट कार्ड लिये प्रेस वार्ता क्यों की?

रंजीता मेहता ने अमित शाह से पूछा कि  स्वामीनाथन  रिपोर्ट कब लागु होगी , किसानों का कर्ज कब माफ होगा? क्योंकि हर रोज किसान आत्महत्या कर रहे हैं। जबकि अपने घोषणापत्र में भाजपा ने सत्ता में आने पर पहली कलम से ही किसानों के लिए स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने की बात की थी। स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करवाने के लिए हरियाणा भाजपा के नेता अर्धनग्न प्रदर्शन करते थे। कर्ज माफी की बात की थी।

रंजीता मेहता ने भाजपा अध्यक्ष पूछा कि गायों के नाम पर वोट खा गये , गायों को चारा कब खिलाओगे? क्योंकि प्रदेश में ही नहीं भाजपा की ओर से देश भर में गाय के नाम पर राजनीती की गई। गाय के नाम पर वोट ली गइ, मगर आज गाय सडक़ों पर कूड़ा खा रही है। गायों के बीच सडक़ पर चलने की वजह से लोग सडक़ हादसों में मर रहे हैं। सरकार एक गाय पर 15 पैसे खर्च करती है। साधू-संत गायों के लिये धरने पर बैठे है ,तो शाह बताये कि गाय माता कब तक सडक पर कूड़ा खाएगी? इसी प्रकार हरियाणा के भाईचारे का चारा बना कर कितने दिन और खाओगे ? क्योंकि हरियाणा में जब से भाजपा की सरकार आई है, सबसे ज्यादा जातीय हिंसा हुई है।

रंजीता ने कहा कि चुुनाव से पहले भाजपा ने  हरियाणा को 24 घंटे और सस्ती बिजली देने का वादा किया था जबकि हरियाणा में सबसे महंगी बिजली है और 24 घंटे में से 4-5 घंटे बिजली आती है।

Print Friendly, PDF & Email